Dark Mode

चुनावी साल में कांग्रेस को लगा झटका, पूर्व सीएम पहाड़िया के पुत्र, पूर्व राष्ट्रपति के रिश्तेदार सहित 4 ने थामा बीजेपी का दामन - जानिए ओपी पहाड़िया, बृजेंद्र सिंह, अशोक वर्मा और चंद्रमोहन मीणा का प्लान

चुनावी साल में कांग्रेस को लगा झटका, पूर्व सीएम पहाड़िया के पुत्र, पूर्व राष्ट्रपति के रिश्तेदार सहित 4 ने थामा बीजेपी का दामन

 

जयपुर। चुनावी साल में भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस को एक बड़ा झटका दिया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री रहे जगन्नाथ पहाड़िया के पुत्र ओमप्रकाश पहाड़िया और पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल के भतीजे बृजेन्द्र सिंह सहित 4 नेताओं ने बीजेपी का दामन थामा है। बहुजन समाज पार्टी में रहे अशोक वर्मा और रिटायर्ड आईएएस चंद्र मोहन मीणा ने बीजेपी में शामिल हुए हैं। तीनों सीनियर नेताओं और सेवानिवृत आईएएस को बीजेपी मुख्यालय में प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी ने सदस्यता ग्रहण करवाई। इसी दौरान बीजेपी नेताओं का कहना था कि प्रदेश की जनता कांग्रेस के शासन से त्रस्त है, इसीलिए कांग्रेस का जाहज डूबता जा रहा है।

 

कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ चुके हैं ओपी पहाड़िया पहाड़िया

 

राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री रहे जगन्नाथ पहाड़िया के पुत्र ओपी पहाड़िया कांग्रेस के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं। कांग्रेस ने उन्हें वैर विधानसभा से टिकट दिया था। अब बीजेपी में आने के बाद पहाड़िया के वैर से विधानसभा चुनाव मैदान में उतरने की तैयारी है। अगर किसी कारणवश पार्टी वैर से टिकट नहीं देती है तो भरतपुर लोकसभा सीट से उन्हें लोकसभा टिकट देने की चर्चाएं चल रही है।

 

उदयपुरवाटी से चुनाव लड़ चुके बृजेन्द्र सिंह

 

पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल के भतीजे बृजेन्द्र सिंह ने भी बीजेपी की सदस्यता ले ली है। वे प्रदेश कांग्रेस के महासचिव भी रहे हैं। बृजेन्द्र सिंह उदयपुरवाटी से कांग्रेस के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं। अब बीजेपी के टिकट पर उदयपुरवाटी से चुनाव मैदान में उतरने की तैयारी है।

 

बसपा नेता अशोक वर्मा ने भी जताई बीजेपी में आस्था

 

भाजपा में शामिल होने वाले अशोक वर्मा बहन मायावती की पार्टी बहुजन समाज पार्टी के नेता रहे हैं। वर्मा ने बसपा के टिकट पर अलवर ग्रामीण सीट से लोकसभा का चुनाव भी लड़ा था लेकिन अब उन्होंने भाजपा में आस्था जताई है। वे पीएम नरेन्द्र मोदी की नीतियों से खुश होकर भाजपा में आए हैं। ऐसी चर्चाएं हैं कि पार्टी उन्हें अलवर ग्रामीण से लोकसभा चुनाव में उतार सकती है।

 

सरकारी सेवा के बाद अब राजनीति के जरिए जनसेवा

 

जयपुर के पास बस्सी के रहने वाले चंद्र मोहन मीणा सरकारी सेवा के बाद अब राजनीति के जरिए जनसेवा करना चाहते हैं। मीणा बस्सी के रहने वाले हैं। रिटायर्ड आईएएस चंद्र मोहन मीणा ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण करने के बाद कहा कि एक प्रशासनिक अधिकारी के रूप में काम करने मिले अनुभवों से वे यह बात पूरी ईमानदारी से कहना चाहते हैं कि भाजपा सामाजिक समरसता, उत्थान और विकास करने वाली पार्टी है। उन्होंने कहा कि बीजेपी की बदौलत ही आज देश में आदिवासी समाज से आने वाली द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद तक पहुंचा दिया। चंद्र मोहन मीणा बस्सी से विधानसभा चुनाव या दौसा से लोकसभा चुनाव लड़ने के मूड में हैं।

Comment / Reply From

You May Also Like

Vote / Poll

राजस्थान में होने वाले राज्यसभा चुनाव 2023 में कौन जीतेगा

View Results
Congress
50%
BJP
50%
Rashtriya Loktantrik Party
0%
other
0%

Newsletter

Subscribe to our mailing list to get the new updates!