Dark Mode

RLP सुप्रीमो हनुमान बेनीवाल का ऐलान - राजस्थान में इसी महीने में 8 बड़े प्रदर्शन करेगी आरएलपी, जानिए क्या है मुद्दे

RLP सुप्रीमो हनुमान बेनीवाल का ऐलान

 

जयपुर। भाजपा और कांग्रेस को आइना दिखाकर अपनी ताकत का एहसास कराते हुए राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी ने अब सड़कों पर उतरने की तैयारी कर ली है। इसी जून महीने में विभिन्न मुद्दों को लेकर आरएलपी की ओर से राजस्थान के अलग अलग जिलों में 8 बड़े प्रदर्शन किए जाएंगे। पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि इसी महीने उनकी पार्टी राजस्थान के चार जिलों में 4 बड़ी रैलियों का आयोजन करेगी। साथ ही 4 जिलों में बड़े विरोध प्रदर्शन किए जाएंगे। बेनीवाल ने कहा कि राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के गठन के दौरान हमने अपना एजेंडा तय कर लिया था। उसी एजेंडे के तहत जनहित के मुद्दों को उठाते हुए सरकार को घेरने का काम करेंगे।

 

आमजन के हर मुद्दे को मजबूती से उठाती है आरएलपी

 

हनुमान बेनीवाल ने साफ कहा है कि आरएलपी का एजेंडा क्लियर है। वह हमेशा देश और प्रदेश के आमजन, किसान, युवा, वंचित और शोषित वर्ग के साथ खड़ी रही है। किसी भी वर्ग के साथ अन्याय होता है तो आरएलपी पूरी मजबूती के साथ विरोध करती है। राजस्थान में पिछले 22 साल से बीजेपी और कांग्रेस की मिली जुली सरकारें चल रही है। दोनों पार्टियां बारी बारी से प्रदेश को लूट रही है। आरएलपी को यह कतई मंजूर नहीं है। बेनीवाल ने कहा कि बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों ने सत्ता में रहते हुए जमकर भ्रष्टाचार किया। लाखों करोड़ रुपयों के घोटाले किए। बड़ी बात यह भी है कि कांग्रेस जब सत्ता में होती है तो बीजेपी भ्रष्टाचार के आरोप लगाती है और जब बीजेपी सत्ता में होती है तो कांग्रेस भ्रष्टाचार के आरोप लगाती है। दोनों ही पार्टियों की सरकारें एक दूसरे की कभी जांच नहीं करवाती। बेनीवाल ने कहा कि पिछले चुनावों के समय अशोक गहलोत ने पूर्ववर्ती वसुंधरा राजे सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए। पिछले साढे 4 साल में एक भी मामले की जांच सीबीआई को नहीं दी।

 

इन मुद्दों को लेकर सड़कों पर उतरेगी आरएलपी

 

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी ने बजरी माफिया का मुद्दा लम्बे समय से उठा रखा है। बजरी माफियाओं की मनमानी के कारण 50 रुपए टन वाली बजरी के 600 रुपए टन वसूले जा रहे हैं। इसे रोकने के साथ आरएलपी ने पूरे राजस्थान में स्टेट टोल मुफ्त करने का मांग फिर से उठाई है। किसानों के कर्जमाफी का मुद्दा याद दिलाने, बेरोजगारों के साथ हुए धोखे, पेपर लीक, स्थानीय युवाओं को रोजगार में प्राथमिकता और स्थानीय मुद्दों को लेकर आरएलपी राज्य सरकार का पूरजोर विरोध करेगी। पहली रैली 9 जून को बीकानेर जिले के डूंगरगढ़ में होगी। इसके बाद 17 जून को टोंक में, 20 जून को भीलवाड़ा में, 22 जून को हनुमानगढ़ के नोहर में और 24 जून को भीलवाड़ा में बड़े विरोध प्रदर्शन होंगे। 

Comment / Reply From

You May Also Like

Vote / Poll

राजस्थान में होने वाले राज्यसभा चुनाव 2023 में कौन जीतेगा

View Results
Congress
50%
BJP
50%
Rashtriya Loktantrik Party
0%
other
0%

Newsletter

Subscribe to our mailing list to get the new updates!